नई दिल्ली.  राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने अपने दल के सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव को दल विरोधी आचरण के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है. यादव से 15 दिनों के अंदर सफाई मांगी गई है. राजद के प्रधान महासचिव रामदेव भंडारी ने सांसद पप्पू यादव को पत्र लिखकर कहा है कि राजद सांसद होने के बावजूद आपका आचरण दल द्वारा घोषित नीतियों, रणनीतियों तथा निर्देशों के विरोध में हो रहा है.

 यहां तक कि आप अध्यक्ष के विरोध में भी बयान दे रहे हैं.  भंडारी ने पत्र के माध्यम से तीन बिन्दुओं पर स्पष्टीकरण मांगा है. पत्र में जिक्र किया गया है कि सांप्रदायिक शक्तियों से बिहार को बचाने के लिए नीतीश कुमार की सरकार का सदन में समर्थन करने का निर्णय लिया गया है, लेकिन आपने विधायकों से जीतन राम मांझी को समर्थन देने की अपील की और इसके लिए प्रलोभन देने का भी काम किया. इसके अलावे कहा गया है कि दल के स्पष्ट निर्देशों के बावजूद पार्टी के अध्यक्ष लालू प्रसाद के फोटो का इस्तेमाल अपने पॉकेट संगठन ‘युवा शक्ति’ के बैनर और पोस्टर में किया जा रहा है, जो दल विरोधी आचरण है. 

पत्र के माध्यम से यह भी पूछा गया है कि आप पिछले कुछ महीनों से पार्टी विरोधी व्यक्तव्य मीडिया में दे रहे हैं. दल ने इन आचरणों को गंभीरता से लिया है. ऐसे में दल विरोधी आचरण मानते हुए क्यों नहीं कारवाई की जाए। इसका जवाब 15 दिनों के अंदर मांगा गया है.