नई दिल्ली. लोकसभा में आज कार्यवाही शुरू होते ही सदन जय श्री राम के नारों से गूंज उठा. बता दें कि अयोध्या में करीब आठ साल बाद राम मंदिर निर्माण के लिए पत्थर लाने का काम अचानक फिर से शुरू हो गया है. इसी खबर के जोश में कुछ बीजेपी सांसदों की तरफ से इसकी शुरुआत की गई जिससे विपक्ष कुछ असहज भी दिखाई दिया. 
 
बीजेपी सांसद विनय कटियार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि शिला पूजन नहीं हो रहा है, बल्कि पत्थरों को तराशने का काम हो रहा है. हमें मंदिर तो वहां बनाना ही है, इसलिए हम उसकी तैयारी कर रहे हैं. घर बनाना होता तो क्या तैयारी न करते हैं. जबकि साक्षी महाराज ने कहा कि मंदिर तो बनेगा ही, उसे कौन रोकेगा. अब तो आजम खान भी तैयार हो गए हैं.
 
इन शिलाओं को पूजने के बाद रामसेवकपुरम में रखा जा रहा है और यहीं से इन्हें निर्माण स्थल पर भेजा जाएगा. रामजन्मभूमि न्यास की ओर से ये ऐलान भी हुआ है कि अब मंदिर बनाने का समय आ गया है. वहीं अयोध्या में शिलापूजन पर बाबरी मस्जिद केस के पक्षकार हाशिम अंसारी का कहना है कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है, जो फैसला होगा वो उसे मानेंगे. उन्होंने सरकार से शिला पूजन रोके जाने की अपील की है.