नई दिल्ली. दिल्ली सचिवालय पर सीबीआई छापे से शुरू हुए विवाद में बीजेपी सांसद कीर्ति आज़ाद भी कूद गए हैं. कीर्ति आज़ाद ने केजरीवाल का समर्थन करते हुए कहा है कि डीडीसीए मामले में जेटली पर लगाए आरोप सही हो सकते हैं. केजरीवाल का आरोप है कि डीडीसीए में हुई अनियमितता की फाइलें चुराने के लिए ही सीबीआई ने उनके दफ्तर पर छापा मारा था. 
 
बता दें कि डीडीसीए (दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन) में घोटाले को सबसे पहले सामने लाने वाले भी आजाद ही थे. वे पूर्व टेस्ट क्रिकेटर हैं और बिहार के दरभंगा से तीन बार बीजेपी के टिकट पर सांसद चुने गए हैं. आजाद के मुताबिक, उन्होंने जेटली को डीडीसीए अफसरों के करप्शन पर 200 से ज्यादा चिट्ठियां लिखीं, लेकिन जेटली ने उनका कोई जवाब नहीं दिया. 
 
आरोप है कि स्टेडियम कंस्ट्रक्शन में 24 करोड़ रुपए खर्च होने थे, लेकिन 130 करोड़ रुपए खर्च होने के बाद भी काम पूरा नहीं हो सका. अक्टूबर 2012 में कई पूर्व क्रिकेटरों ने भी डीडीसीए में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है. बिशन सिंह बेदी, मनिंदर सिंह, सुरिंदर खन्ना, गुरशरण सिंह जैसे पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद के आरोपों के समर्थन में धरने पर भी बैठ चुके हैं.