नई दिल्ली. नेशनल हेराल्ड मामले को लेकर संसद के दोनों सदनों में हंगामा हुआ, जिसके चलते लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा है. कांग्रेस सांसद दोनों सदनों में जमकर हंगामा कर रहे थे जिसे देखते हुए दोनों सदन को स्थगित कर दिया गया. 
 
कांग्रेस के सदस्यों का हंगामा
वैसे, शीतकालीन सत्र को लेकर कहा जा रहा था कि इस बार सरकार और विपक्ष मिलकर काम करेंगे. कई अहम बिल अटके हुए हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक कर सभी दलों से सहयोग मांगा था, लेकिन नेशनल हेराल्ड मामले में अदालती आदेश को लेकर कांग्रेस के सदस्य हंगामा कर रहे हैं. वह इस आदेश के पीछे राजनीतिक साजिश का आरोप लगा रहे हैं.
 
कांग्रेस का हंगामा आलोकतांत्रिक
कांग्रेस सदस्यों के हंगामे को गैर-जिम्मेदाराना, अनैतिक और आलोकतांत्रिक करार देते हुए सरकार ने कहा कि मुख्य विपक्षी पार्टी दुर्भावनापूर्ण हथकंडा अपनाकर संसद के कामकाज और देश के विकास के मार्ग को बाधित नहीं करे, अन्यथा इसका उलटा प्रभाव पड़ेगा. संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि सदन में कांग्रेस पार्टी का आचरण लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ है, कोई मुद्दा नहीं बता रहे हैं और सदन में हंगामा कर रहे हैं. यह ठीक नहीं है.
 
अदालत के कामों में सरकार का दखल नहीं
उन्होंने कहा कि किसी ने बताया कि नेशनल हेराल्ड के मामले पर कांग्रेस सदस्य शोर-शराबा कर रहे हैं. अगर ऐसी बात है तो भारत की न्यायपालिका स्वतंत्र है. अदालत को किसे नोटिस भेजना है, किसे बुलाना है, किसे नहीं बुलाना है.. इन बातों में सरकार का कोई दखल नहीं होता है. यह तय करना अदालत का काम है.
 
19 को कोर्ट में पेश होना है
दरअसल, इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को आज पेश होने के लिए कहा था. हालांकि पटियाला हाउस कोर्ट में आज इस मामले की सुनवाई 19 तारीख तक के लिए टल गई है. खबरें यह भी हैं कि पेशी में छूट के लिए सोनिया गांधी और राहुल सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकते हैं.