Hindi other Mp village, no baby born from last 50 years, pregnant women, ajab gajab, India News http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/mp%20village.jpg

ऐसा गांव जहां पर 50 सालों से किसी बच्चे ने नहीं लिया है जन्म

ऐसा गांव जहां पर 50 सालों से किसी बच्चे ने नहीं लिया है जन्म

  • By
  • |
  • Updated
  • :
  • Thursday, October 6, 2016 - 23:54
Mp village, no baby born from last 50 years, pregnant women, ajab gajab, india news

No child born in the village from last 50 years in madhya pradesh

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
ऐसा गांव जहां पर 50 सालों से किसी बच्चे ने नहीं लिया है जन्म No child born in the village from last 50 years in madhya pradeshThursday, October 6, 2016 - 23:54+05:30

भोपाल. मध्यप्रदेश के एक गांव में 50 सालों से एक भी बच्चा पैदा नहीं हुआ है. राजगढ़ का सांका जागीर नाम का यह गांव भोपाल से करीब 70 किलोमीटर की दूरी पर बसा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दरअसल इसकी वजह गांव वालों का एक अजीबो-गरीब अंधविश्वास है. गांव वालों का मानना है कि अगर गांव की सीमा के अंदर बच्चा पैदा होता है तो उसकी जान चली जाएगी या फिर वह दिव्यांग हो जाएगा.
 
ऐसे में गांव वालों ने गांव की सीमा के बाहर एक कमरा बनवा रखा है. जब भी कोई महिला प्रेग्नेंट होती है. और उसे दर्द होता है तो वह उसे गांव के बाहर बने इस कमरे में ले जाते हैं और बच्चे को जन्म दिलवाया जाता है. 
 
इसके साथ ही गांव वालों का यह भी मानना है कि एक जमाने में यहां पर श्यामजी का मंदिर था, उसी की पवित्रता को बरकरार रखने के लिए गांव के बुजुर्गों ने महिलाओं की डिलिवरी गांव के बाहर कराने का फरमान सुनाया था.
 
इस पर गांव के सरपंच का कहना है कि वह खुद 50 साल से अधिक की उम्र के हो चुके है लेकिन उन्होंने आजतक किसी भी बच्चे का जन्म गांव के अंदर होते नहीं देखा.

First Published | Thursday, October 6, 2016 - 23:54
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.