kissa kursi kaa

Home » Other » मां चंद्रघण्टा की पूजा आज, इन 2 सिद्ध संपुट मंत्रों से होगा आपके दुःखों का नाश

मां चंद्रघण्टा की पूजा आज, इन 2 सिद्ध संपुट मंत्रों से होगा आपके दुःखों का नाश

मां चंद्रघण्टा की पूजा आज, इन 2 सिद्ध संपुट मंत्रों से होगा आपके दुःखों का नाश

By Web Desk | Updated: Tuesday, October 4, 2016 - 08:53
Navratri, Tritiya, Navratra 3rd day, Navratri festival, maa chandraghanta mantra, maa chandraghanta, chandraghanta mantra, Maa chandraghnta, Chandraghanta, navratra, Sharad Navratri, Navratri Goddess, Navratri 2016, Navratri Puja, Navratri Puja Vidhi Home, Navratri Puja Mantra, Mahalaya, Mahalaya 2016, Shubho Mahalaya, Maa Durga

navratri 2016 maa chandraghanta worship will today know the samput mantra here

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
नई दिल्ली. आज यानी मंगलवार को नवरात्रि का तीसरा दिन है. नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघण्टा की पूजा-अराधना करने का विधान है. मां चंद्रघण्टा की पूजा से भक्तों को शांति मिलती है और उनका कल्याण होता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मां चंद्रघण्टा का स्वरूप
मां की शरीर स्वर्ण के समान शोभायमान है. मां के 10 हाथ हैं. इन सभी हाथ धनुष, खड्ग, बाण और अस्त्र-शस्त्रों से सुशोभित हैं. मां का वाहन सिंह है. मां के घण्टे की प्रचंड ध्वनि से दानव कांप उठते हैं. मां के माथे पर चंद्रमा विराजमान हैं, इसलिए मां को चंद्रघण्टा कहा जाता है.
 
 
मां की पसंद
देवी पार्वती के इस स्वरूप को दूध बेहद ही पसंद है. मां चंद्रगण्टा को दूध और दूध से बने वस्तुओं का भोग अवश्य लगाएं. साथ ही किसी जरूरतमंद को दूध भी पिलाएं. मां को लाल रंग बेहद पसंद है, इसलिए पूजा में लाल रंग के फूल, लाल वस्त्र और लाल वस्तुओं का शामिल करें.
 
फैमिली गुरु: मां दुर्गा के तीसरे रूप चंद्रघंटा देवी को पसंद हैं घंटियों की आवाज
 
ध्यान मंत्र
पिण्डज प्रवरारुढ़ा चण्डकोपास्त्र कैर्युता | 
प्रसादं तनुते मह्यं चंद्र घंष्टेति विश्रुता ||
 
स्तुति
या देवी सर्वभू‍तेषु माँ चंद्रघंटा रूपेण संस्थिता। 
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।
 
धन-पुत्रादि प्राप्ति के लिए सिद्ध सम्पुट मंत्र
सर्वाबाधा विर्निर्मुक्तो धनधान्यसुतान्वित:।
मनुष्यो मत्प्रसादेन भविष्यति न संशय:।।
 
दारिद्र-दु:ख नाश के लिए सिद्ध सम्पुट मंत्र
दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तो:।
स्वस्थै स्मृता मतिमतीव शुभां ददासि।।
द्रारिद्र दु:ख भयहारिणि का त्वदन्या।
सर्वोपकारकारणाय सदाह्यह्यद्र्रचिता।।
 
आप सभी को इनखबर की ओर से नवरात्रि के तीसरे दिन की हार्दिक शुभकामनाएं.
First Published | Tuesday, October 4, 2016 - 08:25
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
Web Title: navratri 2016 maa chandraghanta worship will today know the samput mantra here
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

फोटो गैलरी

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सेना दिवस के अवसर पर भारतीय सेना में नवीन आविष्कारों के लिए प्रमाण पत्र भेंट करते हुए
  • जम्मू-कश्मीर के बारामूला में बर्फबारी का एक दृश्य
  • पटना में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव, एक दूसरे को मकर संक्राति की बधाई देते हुए
  • मुम्बई में, भित्ति कलाकार रूबल नागी की क्रिएशन का उद्द्घाटन करने पहुंचे अभिनेता शाहरुख़ खान
  • मुंबई में अभिनेत्री जूही चावला, पर्यावरण के प्रति प्लास्टिक के हानिकारक प्रभावों के बारे में बोलते हुए
  • अभिनेता अर्जुन रामपाल, नई दिल्ली के भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान
  • जुहू के इस्कॉन मंदिर में, दिवंगत अभिनेता ओम पुरी की पत्नी नंदिता पुरी और बेटा ईशान
  • कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, नई दिल्ली में पार्टी के "जन वेदना सम्मेलन" के दौरान संबोधित करते हुए
  • चेन्नई में, आनेवाले पोंगल के लिए बर्तनों पर चित्रकारी में व्यस्त महिला
  • उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले, गाजियाबाद में फ्लैग मार्च करते सुरक्षा कर्मी
Pro Wrestling League India (PWL)