Hindi other ओडिशा, अस्पताल, कालाहांडी, दाना मांझी, नवीन पटनायक http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/man-carries-wifes-dead-body-on-his-shoulders-in-odisha.jpg

गाड़ी के नहीं थे पैसे, कंधे पर बीवी की लाश ले जाने को मजबूर हुआ आदिवासी

गाड़ी के नहीं थे पैसे, कंधे पर बीवी की लाश ले जाने को मजबूर हुआ आदिवासी

    |
  • Updated
  • :
  • Thursday, August 25, 2016 - 14:56

tribal man carries wifes dead body on shoulders in odisha

गाड़ी के नहीं थे पैसे, कंधे पर बीवी की लाश ले जाने को मजबूर हुआ आदिवासीtribal man carries wifes dead body on shoulders in odisha Thursday, August 25, 2016 - 14:56+05:30

भुवनेश्वर. ओडिशा में अस्पताल प्रशासन की घोर लापरवाही का मामला सामने आया है. ओडिशा में पिछड़े जिले कालाहांडी में एक आदिवासी व्यक्ति को अपनी पत्नी के शव को 10 किलोमीटर पैदल चल कर ले जाना पड़ा. दरअसल इस शख्स को अस्पताल से शव घर तक ले जाने के लिए वाहन के पैसे नहीं थे. जिसके बाद ये शख्स खुद अपने कंधों पर अपने घर ले गया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इतना ही नहीं दाना मांझी नाम के इस शख्स के साथ उसकी 12 साल की बेटी भी 10 किलोमीटर तक पैदल चली. माझी की पत्नी की मौत मंगलवार को भवानीपटना में जिला मुख्यालय अस्पताल में टीबी से मौत हो गई थी.

प्रदेश में ये हालत तब है जब नवीन पटनायक की सरकार ने ऐसी स्थिति से निपटने के लिए फरवरी में ‘महापरायण’ योजना की शुरुआत की थी, जिसके तहत शव को सरकारी अस्पताल से मृतक के घर तक पहुंचाने के लिए मुफ्त परिवहन की सुविधा दी जाती है.
 
बताया जा रहा है कि इस शख्स को भवानीपटना से करीब 60 किलोमीटर दूर रामपुर ब्लॉक के मेलघारा गांव पहुंचने के लिए पैदल चलना पड़ा. वहीं, माझी की बेटी ने बताया कि जब रास्ते में कुछ पत्रकार मिले तो उन्होंने जिला कलेक्टर को फोन किया. जिसके बाद बाकी बचे 50 किलोमीटर की यात्रा के लिए एक एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई.
 

First Published | Thursday, August 25, 2016 - 12:11
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.