नव-वर्ष के आगाज से कुछ दिन पहले यह स्तंभलेख मेरी ओर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम एक खुला पत्र है. मेरे सहित करोड़ों-भारतीयों की तमन्ना है कि आने वाला वर्ष देश के लिए और आपके लिए खुशहाल और उत्पादक हो. वर्ष 2015 के जाते-जाते, अपने नए अर्जित ‘मित्र’ को उनके जन्मदिन की शुभकामनाएं देने के लिए लाहौर पहुंच कर आपने अपनी विशिष्ट ‘मोदी ब्रांड’ की राजनीति से पूरी दुनिया को हैरान कर दिया. आपकी रचनात्मक कूटनीति और दृढ़ता ने विदेशों में भारत की स्थिति को मजबूत किया है.आपने वर्ष 2015 में भारत के सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक संभाषण के लिए एजेंडा तय करने में कई रिकॉर्ड तोड़े.आपने कई नई योजनाएं शुरू की और नौकरशाही को उसकी गहरी नींद से उठाया.शायद आप विधायी कामकाज में अपनी पार्टी की मिली सीमित सफलता से निराश हों, लेकिन विघटनकारी राजनीति दुर्भाग्य से अब भारतीय लोकतांत्रिक वर्णन का अपरिहार्य अंग बन चुकी है.आपको वर्ष 2016 में अधिक से अधिक शातिर और झगड़ालू विपक्ष से निपटना पड़ेगा.

वर्ष 2015 की तुलना में आपकी सरकार और आपकी राजनीति अधिक सार्वजनिक जांच के दायरे में आएंगे.संसद के अंदर और बाहर, आपके हर हावभाव और कदम पर सवाल उठाए जाएंगे.बिहार, दिल्ली और कई उपचुनावों और स्थानीय निकाय चुनावों में सफलता से उत्साहित गैर-भाजपा विपक्ष आपको व्यक्तिगत रूप से विफलता के जनक के रूप में निशाना बनाएगा.वे आपकी विकास और लौह पुरुष की छवि को मिटाने का प्रयास करेंगे.आखिरकार, नरेन्द्र मोदी के पतन में कई लक्ष्यरहित, संदेशरहित और निष्क्रिय मंत्रियों के पुनरुद्धार की उम्मीद निहित है.यहां तक कि आपके कुछ भरोसेमंद सहयोगी भी आपकी चूक की प्रतीक्षा करेंगे ताकि वे अधिक शक्तियों और लाभों के लिए सौदेबाजी कर सकें. नई सरकार के लिए पहले वर्ष को व्यवस्था को समझने और लक्ष्य रखने के वर्ष के रूप में समझा जाता है.दूसरे वर्ष को प्रतिपादन के वर्ष के रूप में देखा जाता है.तीसरे वर्ष को दृढ़िकरण, चौथे वर्ष को प्रसरण और पांचवे वर्ष को चुनावी घोषणापत्र में शामिल किए जाने वाले नए लक्ष्यों को रखने वाले वर्ष के रूप में देखा जाता है.आपकी सरकार के लिए 2016 दूसरे व तीसरे वर्ष का मिश्रण है, और इसलिए यह वर्ष ज्यादा कठिन रहेगा.

इसमें कोई संदेह नहीं कि काले धन के उत्पादकों को यह भय सता रहा है कि सरकार अपने जांच कार्यों में लगभग गुप्त रूप से अदृश्य है.लेकिन काले धन को वापस लाने में वित्त मंत्रालय को सीमित सफलता हाथ लगी है.आपके विरोधी मतदाताओं को यह याद दिलाने का कोई मौका नहीं गंवाते कि आपकी सरकार किस प्रकार काले धन के मोर्चे पर विफल साबित हुई है.याद रखें कि काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ आपके दृष्टिकोण के कारण ही युवा मतदाताओं ने चुनावों में आपका पक्ष लिया था.2016 में भ्रष्टाचार के खिलाफ आपकी लड़ाई को निर्णायक मोड़ लेना ही होगा. भारत में कारोबार और निर्यात किए जाने वाले माल का निर्माण करने का विदेशी निवेशकों को आपके द्वारा दिया गया प्रस्ताव विनिर्माण क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के लिए सबसे नवीन विचारों में से एक था.आंकड़ों के अनुसार, 2015 में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश में शानदार वृत्रि हुई है.लेकिन बहुराष्ट्रीय कंपनियां मुख्य विनिर्माण क्षेत्रों में निवेश करने से हिचकिचा रही हैं.आपने लचीली और आकर्षक कर प्रणाली की पेशकश की है लेकिन वे देश में जितना पैसा लेकर आते हैं, उससे अधिक बाहर ले जाने में विश्वास रखते हैं.अन्य मंत्रालयों में आपके सहयोगियों को सुनिश्चित करना होगा कि आपकी विदेश यात्राओं के दौरान हस्ताक्षरित सभी सहमति ज्ञापनों को उत्पादन लाइसेंसों में परिवर्तित किया जाए.अन्यथा, आपके विरोधी आपकी सरकार को नीचा दिखाने के लिए इन्हीं आंकड़ों का इस्तेमाल करेंगे.

 आपने अपने स्वच्छ भारत अभियान के लिए साधारण नागरिकों को प्रेरित करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों की मशहूर हस्तियों को चुन कर बिलकुल उचित कदम उठाया है.यह समीक्षा करने का समय आ गया है कि क्या इन हस्तियों ने आपके संदेश को प्रसारित करने के लिए वास्तव में काम किया है या महज आत्म-पदोन्नति के साधन के रूप में इसका इस्तेमाल किया है.अगर विभिन्न एजेंसियों द्वारा प्रस्तुत किए गए आंकड़ें किसी प्रकार का संकेत हैं तो गांवों में शौचालय बनाने के आपके निर्देशों को अभूतपूर्व सफलता मिली है.लेकिन जल्द ही वास्तविकता की जांच करवाए जाने की जरूरत है.सरकारी एजेंसियों ने कई जिलों में लक्ष्यों को पूरा करने के लिए आबंटित धन खर्च किया है.लेकिन चूंकि रखरखाव के लिए जवाबदेही तय नहीं की गई थी, ज्यादातर शौचालय या तो गैर-व्यवहारिक हैं अथवा गायब हो गए हैं.टीवी चैनलों पर अभी से नवनिर्मित किंतु गंदे शौचालयों की तस्वीरें दिखाई जाने लगी हैं.चूंकि यह ऐसी सुविधाएं हैं जो मतदाताओं को सीधे तौर पर प्रभावित करती हैं, इस योजना को सफल बनाने के लिए आपको अपने अधिकार की शक्ति करने का इस्तेमाल करना होगा.

किफायती आवास उपलब्ध करवाना आपके प्रारंभिक वादों में से एक था.जैसा कि आप जानते हैं, रियल इस्टेट सेक्टर स्वतंत्रता के बाद से अब तक के सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है क्योंकि बढ़ते मूल्यों के कारण संपत्ति लेना आम   आदमी की पहुंच से बाहर होता जा रहा है.विभिन्न सरकारी एजेंसियों ने केंद्र प्रायोजित योजनाओं के तहत नए मकानों के निर्माण के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाए हैं. ऐसे कई क्षेत्र हैं जिन्हें आपके व्यक्तिगत ध्यान की आवश्यकता है.जैसा कि आप जानते हैं कि राजनीति में अनुभूति व धारणा की महत्वपूर्ण भूमिका होती है.सफलता के कई जनक होते हैं, विफलता का कोई भी नहीं.आपके पक्ष में मतदान करने वाले आपको वर्ष 2016 में आगे से नेतृत्व करते हुए देखना चाहते हैं.आपको अपनी मानसिकता के साथ शासन करने के लिए भारी जनादेश दिया गया था.अभी तक आप अपनी टीम पर निर्भर रहे हैं, जो राष्ट्र के बजाय स्वयं के लिए अधिक कार्य करती है.समय आ गया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक वास्तविक मोदी सरकार को स्थापित करें, जो प्रभावी ढंग से सभी निर्माणाधीन कार्यों को पूरा कर दिखाए.

(ये लेखक के निजी विचार हैं.)