नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने न्यूज चैनल न्यूज एक्स से बातचीत के दौरान सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों के फैसले का स्वागत किया है और प्रधानममंत्री नरेंद्र मोदी से इस मतभेद को को सुलझाने की अपील की है. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जज जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस मदन लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट प्रशासन पर सवाल खड़े किए हैं.

जस्टिस जे. चलेमेश्वर ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा था कि सुप्रीम कोर्ट में बहुत कुछ ऐसा हुआ जो नहीं होना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जज जस्टिस जस्ती चेलामेश्वर, राजन गोगोई, मदन लोकुर और कुरियन जोसफ ने जस्टिस दीपक मिश्रा के कामकाज पर सवाल उठाए हैं. सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद प्रधानममंत्री नरेंद्र मोदी ने कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के साथ आपातकालीन बैठक बुलाई है.

आप लोगों की जानकारी के लिए बता दें कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सुप्रीम कोर्ट के जजों ने कहा कि हमारे पास मीडिया के सामने आने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा था. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार आज मीडिया से बात कर रहे हैं. ये चार जज आज चीफ जस्टिस से मिले थे और उनका विरोध केसों को देने का है. ये प्रेस कॉन्‍फ्रेंस जस्टिस जे चेलामेश्वर के घर पर हो रही है.

प्रोफाइल: कौन हैं चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा जिनके कामकाज पर सुप्रीम कोर्ट के चार सीनियर जजों ने उठाए हैं गंभीर सवाल