नई दिल्लीः ‘वैलेंटाइन्स डे’ यानी प्यार का वो दिन जिसका हर प्रेमी युगल पूरे साल भर इंतजार करता है. वैसे तो हर दिन प्यार का होता है लेकिन ‘वैलेंटाइन्स डे’ से ठीक पहले इसे ‘वैलेंटाइन वीक’ के रूप में पूरे एक हफ्ते तक मनाया जाता है. 7 फरवरी से शुरू होने वाले ‘वैलेंटाइन वीक’ का हर दिन अलग-अलग चीजों पर आधारित होता हैं, जैसेः रोज डे, हग डे, टेडी डे, चॉकलेट डे आदि. मगर क्या आप जानते हैं कि इस बार 13 फरवरी को ‘महाशिवरात्रि’ का त्योहार मनाया जाएगा और ‘वैलेंटाइन वीक’ के मुताबिक 13 फरवरी को ‘किस डे’ होता है. यानी इस बार ‘किस डे’ वाले दिन देवों के देव महादेव भोलेनाथ भूत-पिशाचों के साथ नंदी पर सवार होकर अपनी बारात लेकर निकलेंगे.

इस बार करीब 7 साल बाद महाशिवरात्रि का पावन पर्व वैलेंटाइन वीक में पड़ रहा है. इससे पहले साल 2010 में 12 फरवरी के दिन यानी ‘हग डे’ वाले दिन महाशिवरात्रि का त्योहार मनाया गया था. आपको बता दें कि शिवरात्रि का मतलब शिव की रात से है. यह हर साल माघ/फाल्गुन महीने के कृष्ण पक्ष की 13वीं रात को आती है. भोलेनाथ जो अपनी पत्नी पार्वती से बेहद प्रेम करते हैं, महाशिवरात्रि के ही दिन भोले बाबा का माता पार्वती से विवाह हुआ था. पुराणों में यह भी कहा जाता है कि भगवान शिव ने समुद्र मंथन से निकले विष को भी इसी दिन अपने कंठ यानि गले में संचित किया था. इस दिन जगह-जगह भोलेनाथ की बारात रूपी झांकी निकाली जाती है. भूत-पिशाच की वेशभूषा में शिवभक्त भोले बाबा के जयकारे लगाते हुए पूरे शहर में घूमते हैं.

दूसरी ओर वैलेंटाइन वीक की बात करें तो 7 फरवरी से शुरू होने वाले इस वीक का पहला दिन रोज डे के रूप में मनाया जाता है. इस दिन गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रेंड एक-दूसरे को लाल गुलाब देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं. गुलाब के रंगों के आधार पर प्यार और दोस्ती का इजहार निर्भर करता है. मसलन लाल गुलाब जहां प्रेम का प्रतीक है तो वहीं पीला गुलाब दोस्ती का. सफेद गुलाब अपने रंग की तरह शालीनता, मासूमियत और आकर्षण का प्रतीक होता है, तो गहरे गुलाबी रंग का गुलाब नम्रता, दया, कृतज्ञता और धन्यवाद देने में मददगार साबित होता है. 8 फरवरी को प्रपोज डे मनाया जाता है. 9 फरवरी को चॉकलेट डे होता है. 10 फरवरी को टेडी डे, 11 फरवरी को प्रॉमिस डे, 12 फरवरी को हग डे, 13 फरवरी को किस डे और 14 फरवरी को वैलेंटाइन्स डे मनाया जाता है. बहुत से लड़के-लड़कियां प्यार के इजहार के लिए इस दिन को सही मानते हैं क्योंकि इस दिन हर ओर प्यार हवा में बह रहा होता है और उन्हें ऐसा लगता है कि अगर आज वह किसी से अपने प्यार का इजहार करेंगे तो उसके ‘ना’ कहने की गुंजाइश शायद ‘ना’ के ही बराबर हो.

 

शिवलिंगों के स्वामी लिंगराज मंदिर में रविवार को दर्शन करेंगे PM मोदी

वैलेंटाइन डे पर AAP नेता ने JNU स्टूडेंट को Twitter पर किया प्रपोज और फिर