मेरठः अयोध्या में बाबरी विध्वंस विवादित ढांचा गिराए जाने के आज 25 साल पूरे हो गए हैं. यूपी समेत उत्तर भारत के राज्यों में सौहार्द बनाए रखने के लिए शासन-प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद नजर आ रहा है लेकिन उससे पहले यूपी के मेरठ में बाबरी मस्जिद को लेकर विवादित पोस्टर चस्पा करने का मामला सामने आया है. पुलिस अंदेशा जता रही है कि कुछ अराजक तत्वों ने माहौल खराब करने की कोशिश के चलते दीवारों पर पोस्टर चिपकाए हैं. विवादित पोस्टरों पर ‘पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया’ लिखा है. पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर किसने इन पोस्टरों को चस्पा किया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इन बाबरी विध्वंस विवादित पोस्टरों पर लिखा है, ‘कहीं हम भूल न जाएं, धोखे के 25 साल. बाबरी मस्जिद की दोबारा तामीर करो.’ विवादित पोस्टरों का मामला एसएसपी के पास पहुंचा तो उन्होंने फौरन पोस्टरों को हटाने का फरमान देते हुए संबंधित अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए. पुलिस ने देर रात ही गोला कुआं स्थित मस्जिद के पास लगे विवादित पोस्टरों को हटवा दिया. लिसाड़ी रोड से भी पोस्टर हटवाए गए.

एसएसपी के आदेश के बाद इस मामले में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है. दूसरी ओर हिंदूवादी संगठनों से जुड़े लोगों ने भी पुलिस अफसरों से फोन करके शिकायत की है. एसपी सिटी मान सिंह चौहान ने कहा, शहर में पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं कि जिन लोगों ने पोस्टर लगाए हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए. एसपी सिटी ने बताया, बाबरी मस्जिद विवादित ढांचा गिराए जाने की 25वीं बरसी पर शहर में कड़ी सुरक्षा रहेगी. स्थानीय फोर्स के अतिरिक्त पीएसी और आरएएफ तैनात रहेगी.

बाबरी मस्जिद के विध्वंस पर बोलीं उमा भारती, जो कुछ हुआ खुल्लम खुल्ला हुआ