नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विकास दर को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली पर ट्विटर के जरिए हमला बोला है. राहुल गांधी ने जीडीपी को ग्रॉस डिवाइसिव पॉलीटिक्स नाम दिया है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया ‘वित्त मंत्री अरुण जेटली और मिस्टर मोदी की जीनियस जोड़ी कुल बांटने वाली राजनीति (GDP- Gross Divisive Politics) देश के कहां लेकर जा रही है. इसके बाद उन्होंने आंकड़ों के हिसाब से समझाते हुए कहा कि 13 सालों में नया निवेश घटा है. बैंक क्रेडिट ग्रोथ पिछले 63 सालों में घटा है. पिछले आठ सालों में नौकरी कम हुई हैं. एग्रीकल्चर ग्रोथ 1.7 प्रतिशत, राजकोषीय घाटा आठ सालों में बढ़ा है.

इससे पहले उन्होंने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स करार दिया था. इससे पहले राहुला गांधी ने लोकपाल की नियुक्ति पर मोदी सरकार को कटघरे में लेते हुए तंज कसा था कि मोदी सरकार झूठी ताल कब तक बजाएगी. राहुल ने ट्वीट कर कहा था कि ”बीत गए चार साल, नहीं आया लोकपाल जनता पूछे एक सवाल, कब तक बजाओगे ‘झूठी ताल’?” गौरतलब है कि मोदी सरकार के कार्यकाल में राजकोषीय घाटा आठ सालों के उच्चतम स्तर तक पहुंच गया है.  गौरतलब है कि गुजरात चुनाव के दौरान भी राहुल गांधी ने एनडीए सरकार की आर्थिक नीतियों पर जमकर हमला बोला था. इस दौरान उन्होंने खास तौर पर जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स करार देते हुए गुजरात के व्यापारियों का दिल जीतने की कोशिश की थी.

पढ़ें- सरकार ने जारी किया GDP का अनुमान, वित्त वर्ष 2017-18 में विकास दर के 6.5 फीसदी रहेने की उम्मीद