नई दिल्ली. आज गुजरात चुनाव के पहले चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर एक विवादित बयान दिया है. मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि ‘मुझे लगता है कि ये आदमी बहुत नीच किस्म का आदमी है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है, और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है.’ दरअसल मणिशंकर अय्यर का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान पर आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि राष्ट्र निर्माण में बाबा साहब अंबेडकर की भूमिका को कमतर करने का प्रयास किया गया. लेकिन यह प्रयास नाकाम रहा क्योंकि जिस परिवार के लिए ये सब किया गया उससे ज्यादा लोगों पर बाबा साहब अंबेडकर का प्रभाव था.

गौरतलब है कि इससे पहले भी 2014 के लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान जब पीएम मोदी ने अमेठी में गांधी परिवार पर हमला बोलते हुए उसपर गुस्से की राजनीति का आरोप लगाया था तब जवाब में कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी ने कहा था कि पीएम मोदी की ‘नीच राजनीति’ का जवाब अमेठी की जनता उनको  हर एक बूथ पर देगी.

प्रियंका के इस बयान के पलटवार में पीएम मोदी ने जाति कार्ड खेलते हुए कहा था कि ‘मैं सामाजिक रूप से निचले वर्ग से आया हूं इसलिए मेरी राजनीति उन लोगों के लिए ‘नीच राजनीति’ ही होगी. हो सकता है कुछ लोगों को यह नजर नहीं आता हो पर निचली जातियों के त्याग, बलिदान और पुरुषार्थ की देश को इस ऊंचाई पर पहुंचाने में अहम भूमिका है.  इसी ‘नीच राजनीति’ की ऊंचाई पिछले 60 सालों के कुशासन और वोट बैंक की राजनीति से भारत को मुक्त कर भारत मां के कोटि-कोटि जन के आंसू पोंछेगी. इसी ‘नीच राजनीति’ की ऊंचाई भारत मां को एक समृद्ध और शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में विश्व में स्थान दिलाने की ताकत रखती है.’  माना जाता है कि उस समय मोदी के इस जाति वाले बयान का उन्हें बड़ा फायदा मिला था. अब देखना दिलचस्प होगा कि मणिशंकर के इस बड़बोले बयान पर पीएम मोदी क्या जवाब देते हैं.

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017: पहले चरण के चुनाव का आज आखिरी दिन, मोदी-राहुल समेत राजनीति के दिग्गज मैदान में

BJP नेता का विवादित बयान, जामा मस्जिद को बताया जमुना देवी मंदिर-ताजमहल को तेजो महालय