नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद न्याय व्यवस्था में मानों भूचाल सा आ गया. सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जज जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस मदन लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस रंजन गोगोई की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद ऐसा माना जा रहा था कि CJI दीपक मिश्रा भी प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और उनके साथ आटर्नी जनरल भी मीडिया से बातचीत करेंगे. प्रेस कॉन्फ्रेंस की तो फिलहाल कोई खबर नहीं है लेकिन इसी बीच दीपक मिश्रा इस मामले के सिलसिल में अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल से मिले.

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने सुप्रीम कोर्ट के 4 वरिष्ठ जज जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस मदन लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस रंजन गोगोई द्वारा खुद पर लगाए आरोपों का जवाब देने के लिए मीडिया से मुखातिब होंगे. 

गौरतलब है कि इससे पहले आज दोपहर सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जज जस्टिस जस्ती चेलामेश्वर, राजन गोगोई, मदन लोकुर और कुरियन जोसफ ने सुप्रीम कोर्ट प्रशासन पर सवाल खड़े किए थे. जस्टिस जे. चलेमेश्वर ने कहा कि हम चारों मीडिया का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं. यह किसी भी देश के इतिहास में अभूतपूर्व घटना है क्‍योंकि हमें यह ब्रीफिंग करने के लिए मजबूर होना पड़ा है. उन्‍होंने कहा कि SC में बहुत कुछ ऐसा हुआ, जो नहीं होना चाहिए था.

सुप्रीम कोर्ट के जजों ने कहा कि हमारे पास मीडिया के सामने आने के अलावा कोई और विकल्प नहीं बचा था. मुख्य न्यायधीश पर देश को फैसला करना है. सुप्रीम कोर्ट का प्रशासन सही तरीके से काम नहीं कर रहा, चीफ जस्टिस से कई गड़बड़ियों को लेकर शिकायत की है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में पहली बार आज मीडिया से बात कर रहे हैं. ये चार जज आज चीफ जस्टिस से मिले थे और उनका विरोध केसों को देने का है. ये प्रेस कॉन्‍फ्रेंस जस्टिस जे चेलामेश्वर के घर पर हो रही है.

प्रोफाइल : कौन हैं चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के कामकाज पर सवाल उठाने वाले 4 सीनियर जज चेलामेश्वर, गोगोई, लोकुर और जोसफ