लखनऊ. यूपी में नगर निकाय चुनाव के ऐलान हो चुका है. सभी पार्टियां जोर-शोर से प्रचार में लगी हुई है. इसी बीच एक बीजेपी सांसद ने पार्टी के खिलाफ बगावत कर दी है. गोंड़ा से बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह पार्टी आलाकमान से इतने खफा है कि उन्होंने नगर निकाय चुनाव में अपने प्रत्याशी उतार दिए हैं. उत्तर-प्रदेश की कैसरगंज संसदीय सीट से बीजेपी सांसद और भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने निकाय चुनावों में संगठन द्वारा अपनी उपेक्षा किए जाने से नाराज होकर पार्टी द्वारा घोषित प्रत्याशी का खुलकर विरोध करने का फैसला किया है. चाहे इसके लिए उन्हें लोकसभा की सदस्यता ही क्यों न गंवानी पड़े.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम की तर्ज पर बृजभूषण ने भी गोंडा की जनता से ‘मन की बात’ की और उसमें वह भावुक हो गए. बीते विधानसभा चुनाव के बाद से ही पार्टी के स्थानीय संगठन से नाराज चल रहे बीजेपी सांसद ने अपने संसदीय कार्यालय परिसर गोनार्द लॉन में शहर की जनता से बात करने के लिए मन की बात कार्यक्रम आयोजित किया. सांसद ब्रजभूषण ने गोंडा की जनता से मन की बात की और भाजपा संगठन पर निकाय चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर सवाल उठाए. उन्होंने कहा की संगठन को जो प्रक्रिया अपनानी चाहिए थी वह नहीं अपनाई.

बता दें कि सांसद बृजभूषण बीजेपी द्वारा नगर पालिका के लिए घोषित उम्मीदवारों से खुश नहीं है, उनका कहना है कि नवाबगंज में बीजेपी ने जिसे उम्मीदवार घोषित किया है, वह बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के नेताओं की भी बहुत करीबी रही हैं और उनके समय में भी अध्यक्ष रह चुकी हैं. अंजू सिंह और उनका परिवार ना तो कभी बीजेपी पार्टी का प्राथमिक सदस्य रहा और ना ही उन्होंने पार्टी से टिकट मांगा, फिर भी भाजपा ने उन्हें उम्मीदवार खड़ा किया. ब्रजभूषण शरण सिंह ने बताया कि उन्होंने नवाबगंज में पार्टी के वफादार कार्यकर्ता का नामांकन करवाकर उम्मीदवार घोषित किया है, उसे ही चुनाव जिताएंगे.

छत्तीसगढ़: मुख्यमंत्री रमन सिंह बनें दादा, सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल