नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘नीच आदमी’ वाली टिप्पणी से जहां आज खूब बवाल मचा वहीं इसपर पलटलवार करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी एक ट्वीट किया. अमित शाह ने ट्विटर पर लिखा कि ‘यमराज, मौत का सौदागर, रावण, गंदी नाली का कीड़ा, बंदर, रेबीज पीड़ित, वायरस, भस्मासुर, गंगु तेली गुंडा…ये वो शब्द हैं जो कांग्रेस भाजपा के लिए पहले भी प्रयोग कर चुकी है. ज्यादा कुछ नहीं बदला. हम उनकी खैरियत की कामना करते है. हम 125 करोड़ भारतियों को सेवा करते रहेंगे.’

इससे पहले एक अन्य ट्वीट में अमित शाह ने कहा था कि ‘देश के दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित और गरीब वर्ग के प्रति कांग्रेस में शुरू से ही घृणा रही है. आज जब यह वर्ग विकास कर रहा है, आगे बढ़ रहा है, तब कांग्रेस की यह घृणा बौखलाहट बनकर असभ्य भाषा के रूप में बाहर आ रही है.’ हालांकि अय्यर के विवादित बयान की कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने निंदा की थी और अय्यर ने इसपर माफी भी मांगी थी. लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर को सस्पेंड कर दिया है.

गौरतलब है कि गुरूवार को गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए एक कहा था कि ‘मुझे लगता है कि ये आदमी बहुत नीच किस्म का आदमी है, इसमें कोई सभ्यता नहीं है, और ऐसे मौके पर इस किस्म की गंदी राजनीति करने की क्या आवश्यकता है.’ अय्यर ने यह टिप्पणी पीएम मोदी के उस बयान को लेकर कही थी जिसमें उन्होंने राष्ट्र निर्माण में डॉ बाबा साहब अंबेडकर की भूमिका को कमतर दिखाए जाने की बात बोली थी. मोदी ने कहा था कि बाबा साहब अंबेडकर की भूमिका को कम करने की कोशिश व्यर्थ ही रही है क्योंकि जिस परिवार के लिए ये सब कुछ किया गया, जनता पर उस परिवार से ज्यादा प्रभाव बाबा साहब अंबेडकर का रहा था.

प्रियंका गांधी की ‘नरेंद्र मोदी की नीच राजनीति’ का 2014 में असर हुआ था तो मणिशंकर अय्यर का ‘नीच आदमी’ गुजरात चुनाव में कांग्रेस को भारी पड़ेगा !

पीएम मोदी को नीच आदमी कहने पर मणिशंकर अय्यर कांग्रेस से सस्पेंड, कारण बताओ नोटिस जारी