पटना. बिहार में महागठबंधन को मिली जीत के बाद शुक्रवार को नीतीश कुमार एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. आरजेडी के सूत्रों की माने तो लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव को उपमुख्यमंत्री और दूसरे बेटे तेज प्रताप को भी बड़ा मंत्रालय दिया जा सकता है. आरजेडी के विधायक तेजस्वी को विधायक दल का नेता भी बनाया जा सकता है.
 
आरजेडी के महासचिव अब्दुल बारी सिद्दीकी वित्त मंत्री बना सकते हैं. नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में 28 मंत्री शपथ ले सकते हैं.  इनमें 12 मंत्री जेडीयू के, 12 आरजेडी के और चार कांग्रेस से होंगे. खबर ये भी है कि आरजेडी के मंत्रियों की संख्या जेडीयू से कुछ ज़्यादा हो सकती है. इनमें लालू- राबड़ी के दौर में रहे मंत्री हो सकते हैं. साथ ही साथ मुस्लिम चेहरों को तरजीह मिल सकती है.
 
बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक चौधरी और दिग्गज नेता मदन मोहन झा मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. कांग्रेस अपने एक नेता सदानंद सिंह को स्पीकर की पोस्ट के लिए आरजेडी और जेडीयू से बात कर रही है. सिंह राबड़ी देवी की सरकार 2000 से 2005 में भी स्पीकर रह चुके हैं. बता दें कि नीतीश कुमार का शपथ ग्रहण दोपहर दो बजे पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान आयोजन किया जा रहा है.