नई दिल्ली. एम्स की फोरेंसिक रिपोर्ट ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि रायगढ़ के जगंल में मिले शव के अवशेष इंद्राणी मुखर्जी की बेटी शीना बोरा के ही थे. एम्स यह रिपोर्ट सीबीआई को भी सौंप दी है. इस रिपोर्ट को बनाने से पहले तीन प्रकार से जंगल में मिले शरीर के अंगों का परिक्षण किया गया. तभी इस बात की पुष्टि हुई.
 
विशेषज्ञों ने सबसे पहले हड्डी का डीएनए परीक्षण किया. उसके बाद दूसरे चरण में खोपड़ी के अवशेषों का परीक्षण किया गया. और तीसरे चरण में मौका-ए-वारदात पर मौजूद सबूतों की जांच और परीक्षण किया गया. सभी नमूने शीना से मेल खा रहे थे. यही नहीं शीना बोरा के शरीर से लिया गया डीएनए का नमूना भी इस हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी के साथ मेल खाता है. विशेषज्ञों ने इस मामले की विस्तृत रिपोर्ट बना ली है. जिसमें हर तरह के परीक्षण नतीजों का जिक्र है.