पेरिस. फ्रांस में लगातार हुए 7 बम ब्लास्ट में भी तक 160 लोगों के मारे जाने की आशंका जताई जा रही है. हमलों के बाद फ्रांस में आपातकाल घोषित कर दिया गया है. अमेरिकी प्रेसिडेंट बराक ओबामा ने भी एक बयान जारी कर पेरिस हमले की निंदा की है. उन्होंने कहा, ‘फ्रांस में हुए हमले बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. यह मानवता पर हमला है. फ्रांस हमारा पुराना साथी है. इस हमले की घड़ी में हम उसके साथ खड़े हैं.’ वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर कहा, ‘पेरिस में हुए हमले दुखद घटना है. इस घड़ी में हम फ्रांस के साथ खड़े हैं. हमले में मरने वालों को श्रद्धांजलि.’
 
यूएन महासचिव बान की मून ने भी हमलों की निंदा करते हुए कहा कि कि यह एक घृणित आतंकी हमला है. इस तरह के हमले स्वीकार नहीं किए जाएंगे। ऐसे हमलों के खिलाफ पूरे विश्व को मिलकर लड़ना होगा.
 
 
 
ISIS पर है शक
कुछ महिनों पहले फ्रांस में ISIS के आतंकियों ने एक न्यूज़पेपर और कोशर ग्रोसरी में हमला किया था, जिसमें 20 लोगों की मौत हुई थी. इस हमले के कुछ हफ़्तों बाद आतंकियों ने चार्ली हेब्दो नाम की मैगजीन के दफ्तर को निशाना बनाया था, इस हमले में 13 पत्रकारों की मौत हो गई थी.