नई दिल्ली. प्राकृतिक आपदाओं के बाद जरूरतमंदों को कपड़े और दूसरी चीजें मुहैया कराने के लिए प्रसिद्ध मैग्सैसे अवार्ड विजेता अंशु गुप्ता की एनजीओ गूंज के दिल्ली गोदाम में दिवाली की रात किसी के पटाखे ने हजारों लोगों के लिए जुटाए गए कपड़े, कंबल, श्वेटर और दूसरे सामान को राख में बदल दिया. 
 
अंशु गुप्ता ने फेसबुक पर अपनी व्यथा जाहिर करते हुए लिखा है, “यहां मैं लोगों से पटाखों के खिलाफ संदेश फैलाने की अपील करता रहा और वहां गूंज के दफ्तर में इसी दिवाली के पटाखे ने 3000 वर्गफीट में जरूरतमंदों के लिए जुटाए गए कपड़े, कंबल, श्वेटर और दूसरे सामान को राख में बदल दिया.”
 

Here I was asking you to spread the message against crackers and there a cracker did this to Goonj’s center in Delhi. 7…

Posted by Anshu Gupta on Friday, November 13, 2015

 
ऊनी कपड़े और कंबल दें लेकिन कुछ दिन बाद: अंशु गुप्ता
गूंज के गोदाम में लगी आग को बुझाने में दमकल की 10 गाड़ियों को करीब 7 घंटे मशक्कत करनी पड़ी लेकिन तब तक सब कुछ राख हो चुका था. गुप्ता ने पटाखों के इस्तेमाल पर गहरा क्षोभ जताते हुए कहा कि दिवाली के नाम पर पटाखे जलाना पागलपन और दिखावा है.
 

Thank you for hundreds of calls and messages. Please DO NOT START any new campaign for RAISING MONEY for this loss.. the…

Posted by Anshu Gupta on Friday, November 13, 2015

 
गुप्ता ने फेसबुक पोस्ट के जरिए इस समय गूंज के लिए आर्थिक मदद का अभियान नहीं चलाने की अपील की है और कहा है कि जरूरत ऊनी कपड़ों और कंबल की है लेकिन ये सामान भी कुछ दिन बाद दिए जाएं जब गूंज का गोदाम को दोबारा चालू हो जाए.