नई दिल्ली. ‘वन रैंक वन पेंशन’ को लेकर देश के रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के बयान के बाद पूर्व सैनिकों ने विरोध स्वरुप अपने मेडल वापस कर दिए हैं.
 
रक्षा मंत्री पर्रिकर ने पूर्व सैनिकों के इस विरोध को लेकर कहा कि ये सैनिकों जैसा व्यवहार नहीं है. उन्हें गुमराह कर दिया गया है. बता दें कि पर्रिकर ने कहा था कि ‘वन रैंक वन पेंशन’ की सारी मांगें पूरी नहीं की जा सकती हैं.  
 
‘वन रैंक वन पेंशन’ को लेकर सरकार ने हाल ही में जारी किया था. नोटिफिकेशन के तहत पेंशन में प्रत्येक पांच वर्ष पर संशोधन किया जाएगा और योजना पहली जुलाई, 2014 से प्रभावी होगी.