बेंगलुरु. कर्नाटक के कुर्ग में टीपू सुल्तान की जयंती के मौके पर हिंसा में विश्व हिंदू परिषद् के एक कार्यकर्ता की मौत की खबर है. पुलिस के मुताबिक मंगलवार सुबह दो पक्षों में हिंसक झड़प में एक वीएचपी मेंबर की मौत हो गई, जबकि कई घायल हैं. कर्नाटक बीजेपी के स्पोक्सपर्सन एस नारायण ने बताया कि शांति से विरोध कर रहे कार्यकर्ताओं पर हमला हुआ है. प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ता केवल काले झंडे दिखा रहे थे. 
 
क्यों है विवाद?
कर्नाटक सरकार 18वीं सदी में मैसूर के शासक रहे टीपू सुल्तान की जयंती मना रही है. बीजेपी से जुड़े संगठन आरएसएस-वीएचपी इसका विरोध कर रही है. टीपू को आरएसएस ने सबसे इन्टॉलरेंट शासक करार दिया है. विरोध में आरएसएस और तमाम हिंदू संगठन कर्नाटक में प्रदर्शन कर रहे हैं. कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के संघ चालक वी. नागराज के मुताबिक, टीपू सुल्तान एक ऐसा शासक था, जिससे कर्नाटक के लोग नफरत करते हैं. उसने चित्रदुर्गा, मेंगलुरु और मध्य कर्नाटक के लोगों पर जुल्म ढाया था.