नई दिल्ली. जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी की इच्छा के खिलाफ जाकर उनके वारिस और बेटे शाबान बुखारी ने हिंदू लड़की से निकाह कर लिया है. सूत्रों की माने तो शादी रविवार को ही हो गयी है जबकि दावत-ए-वलीमा 14 नवंबर को महिपालपुर (दिल्ली) के एक फार्म हाउस में होना तय है. रिसेप्शन के लिए पीएम मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह शामिल हैं. 
 
शादी के खिलाफ थे अहमद बुखारी
सूत्रों के मुताबिक, शाबान बुखारी से शादी करने वाली हिंदू लड़की गाजियाबाद की रहने वाली है. दोनों के बीच पिछले ढाई साल से अफेयर था. बताया जाता है कि शादी को लेकर दोनों परिवारों में तनाव भी था. अहमद बुखारी भी इस शादी के खिलाफ थे, लेकिन लड़की के इस्लाम कबूल करने और कुरान सीखने की शर्त पर उन्होंने शादी की इजाजत दे दी.
 
 
शाबान बुखारी जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी के छोटे बेटे हैं. शाबान ने एमिटी यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया है. पिछले साल जामा मस्जिद में हुए दस्तारबंदी प्रोग्राम में बुखारी ने शाबान को अपना वारिस बनाया था. कई मजहबी प्रोग्राम और प्रेस कॉन्फेंस में शाबान अपने पिता अहमद बुखारी के साथ दिखाई देते रहे हैं.