लखनऊ. बिहार में समाजवादी पार्टी और उसकी अगुवाई में बने तीसरे मोर्चे का खाता भी नहीं खुलने से सबक लेकर सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव अब बिहार के महागठबंधन से दोस्ती का मन बना रहे हैं. यूपी में 2017 में विधानसभा का चुनाव होना है.
 
मुलायम सिंह के भाई और पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवपाल यादव ने अंग्रेज़ी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से कहा, “महागठबंधन की जीत मायने रखती है. नेताजी आगे की रणनीति फिर से तय करेंगे. इंतजार करिए.” 
 
राजनीति में बीती बात याद नहीं रखते- शिवपाल
 
लालू-नीतीश के महागठबंधन से अलग होने के बाद सपा पर बीजेपी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा था क्योंकि जो वोट ये लाती वो सारे वोट बीजेपी विरोधी वोट में विभाजन से आते. सपा ने बिहार में 146 सीटों पर तीसरा मोर्चा बनाकर चुनाव लड़ा था लेकिन कोई सीट नहीं जीत सकी.
 
महागठबंधन के नेताओं से गिले-शिकवे भुलाकर साथ आने का संकेत देते हुए शिवपाल ने कहा, “ये राजनीति है. बीती बात हो गई वो. हम नई शुरुआत करेंगे और उनके साथ मिलकर काम करेंगे.” मुलायम सिंह के अलावा शिवपाल ने नीतीश और लालू को फोन करके जीत की बधाई दी है.