नई दिल्ली. बिहार में चुनावी परिणामों में महागठबंधन को भारी जीत और एनडीए को हार मिलने के बाद मोहम्‍मद अखलाक के बेटे सरताज ने कहा कि यह फैसला नफरत की राजनीति के खिलाफ है. बीजेपी की हार से मेरे पिता को सच्ची श्रद्धांजलि मिली है.
 
सरताज ने कहा, ‘बिहार के लोग सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ एकजुट हो गए थे. इस देश में नफरत के लिए कोई जगह नहीं है. लोगों को महसूस करना चाहिए कि धर्म के नाम पर लड़ने से कुछ नहीं होने वाला है. मैं सभी नेताओं से अपील करता हूं कि सत्‍ता के लिए वे देश को न बांटें.’
 
 
सरताज ने कहा कि मेरे पिता अखलाक की हत्‍या के बाद कई बीजेपी नेताओं ने भड़काऊ बयान दिए थे. इनमें मुंबई के पूर्व कमिश्‍नर और बीजेपी सांसद सत्‍यपाल सिंह भी थे, जिन्‍होंने दादरी कांड को छोटी घटना बताया था. नेताओं को देश को जोड़ना चाहिए तोड़ना नहीं.
 
 
आपको बता दें कि दादरी के बिसाड़ा गांव में गोमांस पकाने की अपवाह के आरोप में भीड़ ने मो. अखलाक की हत्या कर दी थी. इसके बाद कुछ लोग उसके घर में दरवाज़ा तोड़कर घुसे थे. इसके बाद उसको घर से बाहर खींचा और उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी.