नई दिल्ली. देश में बढ़ रही असहिष्णुता पर देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सरकार पर बड़ा हमला करते हुए कहा है कि धर्म लोगों का निजी हक़ है और सरकार इसमें दखल नहीं दे सकती है. देश में मौजूदा हालात चुनौतीपूर्ण हैं. लेखकों की हत्या और उन पर हमलों को किसी भी तरह से जायज़ नहीं ठहराया जा सकता है. उनकी हत्या सिर्फ इसलिए हो रही है क्योंकि वे आपके विचारों से सहमत नहीं हैं.ये हमले देश की आत्मा पर हमले हैं.  देश में विकास के लिए अभिव्यक्ति की आजादी बहुत जरूरी है.