इंफाल. मणिपुर की राजधानी इंफाल के पास गाय चुराने के शक में कुछ लोगों ने एक मदरसे के हेडमास्टर की हत्या कर दी है. पुलिस को शक है कि पड़ोस के गांव के लोगों ने ही इस घटना को अंजाम दिया है. पुलिस ने फ़िलहाल किसी गाय चोरी की घटना की पुष्टि नहीं की है. 
 
क्या है मामला?
मारे गए शख्स का नाम मोहम्मद हसमद अली उर्फ बाबू बताया गया है. अली कीरो मतिंग गांव के एक प्राइमरी मदरसे में हेडमास्टर था. इस इलाके में ज्यादातर मणिपुरी मुसलमान रहते हैं. अली के परिवार ने कहा है कि वे रविवार को रात आठ बजे घर से पान खाने के लिए निकले थे. बाद में उनकी लाश मिली, जिस पर खरोंच के निशान थे.
 
गाय चुराते हुए पकड़ा गया था अली!
अली के गांव वालों का कहना है कि अली का मर्डर पड़ोस के गांव वालों ने किया है. उनका कहना है कि अली को गाय चुराते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया था. हालांकि, पुलिस अभी इस आरोप की पुष्टि नहीं कर रही है. घटना के बाद इलाके में सिक्युरिटी सख्त कर दी गई है, क्योंकि कुछ लोग यहां साम्प्रदायिक तनाव फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. अली जिस कम्युनिटी से आता है, उसे यहां पांगल कहा जाता है. पांगल कम्युनिटी यहां कई दशकों से रह रही है. इस कम्युनिटी के गांवों के आसपास ही मेतीज और कुकी आदिवासियों के भी गांव हैं. बताया जाता है कि अली की मौत से गुस्साई भीड़ ने इरीबुंग पुलिस स्टेशन पर भी हमला किया. ये लोग हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे.