नई दिल्ली. आप के बागी प्रशांत भूषण और योगेन्द्र यादव की ओर से बैठक बुलाए जाने से एक दिन पहले आम आदमी पार्टी ने पार्टी सदस्यों को चेतावनी दी कि अगर कोई सदस्य बागी खेमे के निमंत्रण को स्वीकार करता है, तो पार्टी उस पर कड़ी कार्रवाई करेगी. पार्टी की तरफ से शीर्ष निर्णय करने वाली समिति यह तय करेगी कि क्या कार्रवाई की जाए?

आप के सीनियर नेता संजय सिंह ने कहा कि पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) और राष्ट्रीय कार्यकारिणी ‘स्वराज संवाद’ बैठक के बाद अगले कदम के बारे में फैसला करेगी. स्वराज संवाद बैठक कल होनी है.सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि स्वराज संवाद बैठक पार्टी का कार्यक्रम नहीं है. पीएसी और एनई इस बारे में तय करेगी कि बैठक के बाद क्या कार्रवाई करने की जरूरत है. 

IANS