लखनऊ. उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक एवं संसदीय कार्य मंत्री आजम खां देश में गोमांस को लेकर हो रही सियासत से आहत हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वह आस्था से जुड़े इस जीव को विवादित होने से बचाने का प्रयास करें और गोमांस को लेकर गैर जिम्मेदाराना बयान देने वाले नेताओं पर नकेल कसें.
 
 
आजम ने पुरी के पीठाधीश्वर स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ महाराज को लिखे एक पत्र में यह बात कही है. आजम ने उनसे भी अनुरोध किया है कि वह स्वयं भी यह सुनिश्चित करें कि गाय को विवादित होने से बचाया जा सके.
 
स्वामी अधोक्षजानंद ने कुछ दिन पहले ही आजम खां को एक काली गाय और बछिया भेंट की थी. इसके लिए आजम ने उनका शुक्रिया अदा किया है.
अपने पत्र में आजम ने लिखा कि स्वामीजी आपसे अनुरोध है कि आप इसे राजनीतिक लड़ाई बनाने वालों को सीख देने की शुरुआत करें और इस अभियान की अगुवाई करें. भारत के प्रधानमंत्री से यह मांग भी करें कि पूरे देश में गाय को लेकर एक ऐसा माहौल बनाया जाए, जिससे लोग इसका आदर करें.
 
 
आजम ने पत्र के माध्यम से यह भी मांग की है कि गाय के मरने के बाद उसे बेचने पर बैन लगाया जाए और यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि गाय के मरने के बाद उसका अंतिम संस्कार सही तरीके से कराया जाए.