नई दिल्ली. हड़ताल पर बैठे एमसीडी के सफाई कर्मचारियों की मांग पूरी करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अखबारों में विज्ञापन देकर डीडीए से एमसीडी का 1500 करोड़ का बकाया चुकाने को कहा है.

केजरीवाल ने ये विज्ञापन छाप कर ये साफ किया है कि नगर निगम दिल्ली सरकार के अधीन नहीं आते हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली सरकार के खिलाफ ये गलतफहमी फैलाई जा रही है कि दिल्ली सरकार निगम को पैसे नहीं दे रही है.

अखबारों में छपे से इस विज्ञापन में लिखा गया कि दिल्ली सरकार की ओर से सफाई कर्मचारियों को सितंबर तक का वेतन दे दिया गया है. यह बात सरासर गलत है कि कि वेतन ना मिलने के चलते सफाई कर्मचारी हड़ताल पर हैं. कानून के हिसाब से कुछ पैसे दिल्ली सरकार को देने होते हैं. डीडीए ने नगर निगम को प्रॉपर्टी टैक्स के 1500 करोड़ नहीं दिए हैं. केंद्र, निगम को पैसे दिलाए.