नई दिल्ली. भारतीय वायुसेना में अब महिला पायलट भी लड़ाकू विमान उड़ा सकेंगी. रक्षा मंत्रालय ने लड़ाकू विमान में महिलाओं की तैनाती को मंजूर कर लिया है. देश में ये पहला मौका होगा जब महिलाएं लड़ाकू विमानों के पायलट की भूमिका में नजर आएंगी.
 
भारतीय वायुसेना की ओर से एक बयान में कहा गया है कि महिला पयलटों का पहला बैच वायुसेना में जून 2016 में तैनात किया जाएगा. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता सितांशु कर ने शनिवार को ट्विटर पर लिखा, ‘रक्षा मंत्रालय ने लड़ाकू विमान में महिलाओं की तैनाती को मंजूर कर लिया है.’
 
रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता का कहना है कि वायुसेना के लड़ाकू वर्ग में पहले बैच के महिला पायलटों का चुनाव आईएएफ एकेडमी के वर्तमान बैच में से किया जाएगा. उन्होंने कहा कि कमीशंड पायलटों को एक साल का उन्नत प्रशिक्षण दिया जाएगा और वे जून 2017 तक लड़ाकू विमानों के कॉकपिट में प्रवेश करेंगी.
 
बता दें कि वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल अरूप राहा ने आठ अक्टूबर को वायुसेना दिवस के मौके पर घोषणा की थी कि महिलाओं को लड़ाकू विमान में पायलट के रूप में तैयार किया जाएगा. तीनों सेनाओं में से वायुसेना पहली होगी, जिसमें महिलाओं को लड़ाकू भूमिकाओं के लिए तैनात किया जाएगा.