चंडीगढ़. हरियाणा के फरीदाबाद में दो दलित बच्चों की हत्या के महज दो दिन बाद अब सोनीपत के गोहाना थाना क्षेत्र में कबूतर चुराने के आरोप में कथित तौर पर पुलिस की पिटाई से 14 साल के एक दलित बच्चे गोविंदा की मौत हो गई है.
 
गोविंदा की कथित हत्या के विरोध में लोगों ने सड़क और रेल मार्ग जाम कर दिया जिसके बाद पुलिस ने गोविंदा के भाई गौतम की शिकायत पर गोहाना थाने के दो असिस्टैंट सब इंस्पेक्टर सुभाष और अशोक के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है.
 
परिवार का दावा, पुलिस ने पैसे लेकर भी गोविंदा को नहीं छोड़ा
 
गोविंदा के घर वालों का कहना है कि कबूतर चोरी के आरोप में पुलिस उसे ले गई थी और छोड़ने के लिए 10 हजार रुपए घूस भी लिए लेकिन छोड़ा नहीं. गोविंदा का शव गुरुवार की सुबह उसके घर के पास एक वीरान जगह पर मिला.
 
पुलिस का कहना है कि गोविंदा पर पड़ोसियों ने कबूतर चुराने का आरोप लगाया था और थाने में दोनों पक्षों के बीच सुलह-समझौता भी हो गया था.
 
पुलिस सूत्रों का कहना है कि गोविंदा की मौत फांसी पर झूलने से हुई है लेकिन जब तक जांच न हो जाए औपचारिक तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता.