मुंबई. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुंबई में पार्टी की दशहरा रैली में बीजेपी और नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया. उद्धव ने तीखे तेवर में पूछा कि आपमें गाय पर बहस करने का दम है तो महंगाई पर बात क्यों नहीं करते.
 
बीजेपी के पूर्व नेता सुधींद्र कुलकर्णी को कालिख पोतने को सही ठहरते हुए उद्धव ने कहा कि देश का नाम दादरी जैसी घटनाओं से बदनाम हो रहा है न कि सुधींद्र जैसे लोगों के चेहरे पर कालिख पोतने से.
 
शिवसेना के पाकिस्तान विरोध से बीजेपी को क्यों मिर्ची लगती है
 
दशहरा रैली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह विरोधी नारे के बीच उद्धव ने कहा कि बीजेपी सहमत हो या असहमत लेकिन शिवसेना अपनी विचारधारा नहीं छोड़ेगी. उन्होंने सवाल किया कि शिवसेना जब पाकिस्तान का विरोध करती है तो बीजेपी को मिर्ची क्यों लगती है. उद्धव ने कहा कि अगर बीजेपी मुफ्ती मोहम्मद सईद की बात सुन रही है तो उसे शिवसेना की भी सुननी होगी. 
 
बीसीसीआई शिवसेना से डरती है तो इसमें हमारी क्या गलती
 
शिवसेना प्रमुख ने कहा कि बीसीसीआई और पीसीबी की मीटिंग का शिवसेना ने शांतिपूर्वक विरोध किया. उन्होंने कहा कि अगर बीसीसीआई शिवसेना से डरती है और उसकी मांग के बाद पाकिस्तान के साथ खेलने से पीछे हटती है तो इसमें शिवसेना को क्यों दोष दिया जा रहा है.
 
राम मंदिर पर बीजेपी के वादे खोखले, तारीख नहीं बताया अब तक
 
उद्धव ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर भी बीजेपी की चुटकी ली और कहा कि ये वादा अभी तक खोखला है क्योंकि मंदिर बनाने की तारीख अब तक नहीं बताई गई है.