फरीदाबाद. फरीदाबाद में दलित परिवार को जिंदा जलाने की घटना के बाद तनाव पसरा हुआ है. दलितों ने दोनों बच्चों के शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया और कहा कि जब तक आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती तब तक वे अंतिम संस्कार नहीं करेंगे. पुलिस ने लाठीचार्ज करके शव को कब्जे में ले लिया है.
 
NH-2 पर प्रदर्शन कर रहे हैं लोग
फरीदाबाद के सुनपेड गांव के दलित परिवार बच्चों के शव को राष्ट्रीय राजमार्ग-2 पर रखकर बल्लभगढ़ में जाम लगा दिए हैं. इस बीच जिले के कई आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए और जाम लगा रहे लोगों को समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला.
 
इस धरने की वजह से एनएच-2 पर दोनों तरफ लंबा जाम लग गया. इस दौरान वहां पुलिस के साथ-साथ अर्धसैनिक बल की तैनाती भी कर दी गई. जब घंटों तक धरना देने वाले नहीं माने तो पुलिस ने उन्हें वहां से लाठीचार्ज करके जबरन हटा दिया और यातायात सुचारु कराया. बच्चों के शव को एक एम्बुलेंस में डालकर वहां से हटाया गया.
 
हरियाणा सरकार ने CBI जांच की सिफारिश की घोषणा की
हरियाणा सरकार ने पूरे मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सुनपेड का दौरा करने वाले थे लेकिन बाद में दौरा टाल दिया गया. बीजेपी सांसद किशनपाल गुर्जर ने गांव का दौरा किया और पीड़ित परिवार से मिले.