लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी चीफ मायावती ने भी देश में बढ़ रही सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार बताया है. दादरी और जम्मू की घटना को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि सांप्रदायिक दंगों से बीजेपी को फायदा मिलता है, इसलिए पीएम इस पर बोलने की बजाए चुप रहते हैं. उन्‍होंने कहा, दादरी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बयान राजनीतिक है.
 
मायावती ने आरोप लगाया कि केंद्र पर राजनीतिक स्वार्थ के साथ काम करने का आरोप भी लगाते हुए कहा कि ‘देश के अल्पसंख्यक असुरक्षित हैं. यूपी में जंगलराज का माहौल कायम है.’ उन्‍होंने यह भी कहा कि ‘मैं आरक्षण को ख़त्म नहीं होने दूंगी. उन्‍होंने कहा, प्रदेश में भाजपा ने अपने राजनीतिक स्‍वार्थ से किस्‍म-किस्‍म के हथकड़े अपनाने शुरू कर दिया है. इस क्रम में प्रदेश के मुसलमानों के वोटों को बांटने के लिए बीजेपी ने यहां हैदराबाद के मुस्लिम असदुद्दीन ओवैसी को सक्रिय कर दिया है. इनका इस्‍तेमाल पार्टी बिहार में भी रही है. इस कार्य के लिए पार्टी यहां पीस पार्टी का भी इस्‍तेमाल कर सकती है, ताकि प्रदेश के मुस्लिम लोगों के वोटों को बांटा जा सके. बीजेपी द्वारा सर्वसमाज में से गरीबों, दलितों और अन्‍य पिछड़े वर्गों के वोटों को भी बांटने का प्रयास किया जा रहा है.