भोपाल. व्यापम घोटाले में हो रही मौतें सीबीआई जांच शुरु होने के बाद थम गया है ऐसा माना जा रहा था लेकिन यह पहले की तरह तेज भले न हो जारी ज़रूर है. इस बार यह रहस्यमयी मौत की खबर ओडिशा से आई है. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, इंडियन फोरेस्ट सर्विस (IFS) के ऑफिसर विजय बहादुर झारसुगुडा इलाके में रेलवे ट्रैक मृत पाये गये. बहादुर का मृत शरीर 15 अक्टूबर को मिला. 
 
यह रिटायर व्यूरोक्रेट व्यापम द्वारा आयोजित दो रिक्रूटमेंट परीक्षाओं के ऑब्जर्वर थे. रिपोर्ट के अनुसार, बहादुर अपनी पत्नी के साथ ओडिशा के पूरी में आयोजित 1978 बैच के IFS अधिकारियों के सम्मेलन में शिरकत करने गए थे. जब वह भोपाल लौट रहे थे तब उनका मृत शरीर रेलवे ट्रैक पर पाया गया. जीआरपी झारसुगुडा के डीएसपी दिलीप बाग के अनुसार, प्रथम दृष्टि में बहादुर की मौत चलती ट्रेन से गिरने की वजह से हई मालूम पड़ती है लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से मौत की वजह का खुलासा हो सकता है. इस मामले की जांच चल रही है.
 
बहादुर की पत्नी ने नीता ने संदेह व्यक्त करते हुए कहा कि उनके पति ट्रेन के एसी कम्पार्टमेंट के खुले दरवाजे को बंद करने गये उसके बाद वे वहां से वापस नहीं लौटे. नीता के अनुसार, बहादुर रायगढ़ स्टेशन के बाद ही गायब हो गए थे. रायगढ़ झारसुगुडा से 70 किलोमीटर दूर है. बहादुर की मौत मेडिकल की छात्रा नम्रता दामोर की मौत जैसी है. नम्रता का शव जनवरी 2012 में उज्जैन इलाके में रेल ट्रैक पर मिला था.