चंडीगढ़. बीफ और मुसलमान पर दिए गए बयान पर विवाद के बाद सीएम मनोहर लाल खट्टर ने सफाई देते हुए कहा है कि मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया. अगर इससे किसी की भावनाएं आहत हुई हों तो वे खेद व्यक्त करने के लिए तैयार हैं. उनके मुताबिक़, उन्होंने अपने बयान में बीफ शब्द का इस्तेमाल नहीं किया था. 
 
आपको बता दें कि हरियाणा के मुख्यमंत्री ने को लेकर एक विवादित बयान दिया है. उनका कहना है मुस्लिम रहें, मगर इस देश में उन्हें बीफ खाना छोड़ना ही होगा. यहां गाय बहुत लोगों की आस्था से जुड़ी हुई है. 
 
अभी खट्टर ने अपनी सरकार का एक साल ही पूरा किया है. इंडियन एक्सप्रेस को दिए गए एक इंटरव्यू में खट्टर ने कहा कि गाय, गीता और सरस्वती देश में बहुत लोगों की आस्था के प्रतीक हैं. मुसलमान बीफ खाकर उनके धार्मिक आस्थाओं को चोट नहीं पहुंचा सकते.
 
हालांकि खट्टर ने दादरी घटना पर दुख व्यक्त किया है. दादरी घटना कुछ लोगों की गलतफहमी का परिणाम थी. मुस्लिम इस देश में रह सकते हैं लेकिन उन्हें बीफ खाना छोड़ना होगा. लोकतंत्र में सबको स्वतंत्रता होती है लेकिन सबकी आजादी की एक सीमा होती है.