नई दिल्ली.  गुरूवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री  देवेन्द्र फड़णवीस ने शिवसेना और बीजेपी के बीच रिश्तों के बीच दरार को लेकर सफाई देते हुए कहा कि बीजेपी का शिवसेना के साथ कोई मन-मुटाव नहीं है. हम 2017 में होने वाले निकाय चुनाव शिवसेना के साथ ही लड़ेंगे. 
 
कैबिनेट विस्तार में शिवसेना को सीटें दी जाएंगी 
एक अग्रेंजी अख़बार हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबिक, फड़णवीस ने कहा कि मुंबई के अलावा बीजेपी नागपुर और पुणे में भी शिवसेना के ही साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगी. इस मसले पर बीजेपी की राय बिल्कुल स्पष्ट है. इसके अलावा  उन्होंने  बताया कि बिहार चुनाव के बाद महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट में विस्तार होगा, जिसमें सहयोगी शिवसेना को सीटें दी जाएंगी.
 
आपको बता दें कि पाकिस्तान के पूर्व फॉरेन मिनिस्टर खुर्शीद अहमद कसूरी की किताब रिलीज को लेकर शिवसेना और बीजेपी के बीच विवाद हुआ था. शिवसेना के कुछ सदस्यों ने सुधींद्र कुलकर्णी के चेहरे पर स्याही पोत दी थी. इसके बाद सीएम देवेन्द्र फड़णवीस ने शिवसेना को कड़ी फटकार लगाई थी. उन्होंने कहा कि सुधींद्र कुलकर्णी घटना से महाराष्ट्र के सम्मान को नुकसान पहुंचा है. हम राज्य को एक अराजक स्थल नहीं बनने दे सकते.
 
इसके बाद ऐसा कहा जा रहा था कि केंद्र और महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी शिवसेना सरकार के सभी पदों से इस्तीफ़ा दे सकती है और कल्याण-डोंबिवली नगरपालिका चुनाव में भी दोनों पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ेंगी.