नई दिल्ली. गलती से सरहद पार पाकिस्तान चली गई भारतीय मुक-बधि‍र लड़की गीता का परिवार मिल गया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्विट कर कहा है कि वो जल्द ही भारत लौटेगी और डीएनए टेस्ट के बाद उसे परिवार के हवाले किया जाएगा.
 
सुषमा स्वराज ने ट्विटर पर लिखा है कि गीता जल्‍द भारत लौटेगी, हमने उसके परिवार को ढूंढ लिया है. गीता को डीएनए टेस्‍ट के बाद ही उसके परिवार को सौंपा जाएगा. भारतीय दूतावास ने गीता के परिवार का पता लगाया है. 
 
गीता का परिवार बिहार में रहता है. गीता बोल-सुन नहीं सकती. 2 अक्तूबर को भारतीय दूतावास की भेजी हुई तस्वीर में गीता ने अपने परिवार के सदस्यों को पहचाना और आने वाले कुछ दिनों में गीता को कराची से नई दिल्ली लाया जाएगा. 
 
फिल्म ‘बजरंगी भाईजान’ की मुन्नी से गीता की कहानी काफी मिलती जुलती है. इसी फिल्म के बाद गीता का पाकिस्तान में होने का पता चला और फिर पूरी दुनिया को गीता के बारे में पता चला.
 
गीता 12 साल पहले गलती से पाकिस्‍तान चली गई थी. पाकिस्तान रेंजर्स ने उसे पकड़ा और उन्हें तब लगा कि वो आसपास के किसी गांव से होगी़. काफी छानबीन के बाद भी उसके बारे में पता नहीं लगा सका़.
 
इसके बाद रेंजर्स ने उसका नाम सलमा रखा और उसे लाहौर के ऐधी फाउंडेशन में पहुंचाया दिया. गीता को पाकिस्तान की मशहूर समाज सेविका बिलकिस एधी ने पाला और उसे गीता नाम दिया.