मुंबई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दादरी, गुलाम अली और सुधींद्र कुलकर्णी से संबधित बयान पर शिवसेना भड़क गयी है. दरअसल पीएम मोदी ने एक अख़बार से बातचीत में गुलाम अली के विरोध और सुधींद्र कुलकर्णी पर स्याही फेंकने को दुखद बताते हुए शर्मनाक करार दिया. इसके जवाब में शिवसेना ने कहा कि यह मोदी नहीं पीएम का बयान है. शिवसेना ने कहा कि मोदी अपने चुनाव पूर्व किए वादों से कुर्सी की खातिर पलटने लगे हैं. 
 
शिवसेना कसूरी वाले मामले पर कायम 
शि‍वसेना नेता राउत ने कहा, ‘हम कोई नियम नहीं तोड़ रहे हैं. हमने कसूरी मामले में हर जानकारी लिखि‍त तौर पर मुख्यमंत्री को सौंपी है. हमने बताया है कि कैसे कसूरी ने अलगाववादियों को मजबूती दी. हम सरकार से इस ओर समर्थन की अपेक्षा रखते हैं.’ देवेंद्र फड़नवीस सरकार पर तल्ख और तीखे बोल से निशाना साधते हुए राउत ने कहा कि राज्य सरकार को शर्म आनी चाहिए कि जिन पुलिस वालों ने कसाब से लोहा लिया, वह उन्हें एक पाकिस्तानी की सुरक्षा में लगा रही है.