वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र और वाराणसी से 16 किलोमीटर दूर एक गांव ओसनपुर कथित घरवापसी के कारण चर्चा में बना हुआ है. ऐसा आरोप है कि गांव में 300 लोगों की घरवापसी कराई गई है. 
 
ऐसा बताया जा रहा है कि धर्म जागरण समन्य विभाग नाम की एक संस्था ने 300 लोगों का कथित धर्म परिवर्तन कराया. इसके अलावा पुलिस ने धर्म जागरण समन्य विभाग के संयोजक से भी बातचीत की. 
 
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक़, धर्म जागरण समन्य समीति के लेटरहेड पर दावा किया गया है कि ग्राम देवता पूजन समीति के संयोजक चंदराम बिंद की निगरानी में 38 परिवारों ने सनातन धर्म ग्रहण किया गया है. ये सभी परिवार पहले धर्म छोड़कर चले गए थे. स्थानीय आरएसएस नेताओं ने यह स्वीकार किया है कि धर्म जागरण समन्वय समीति संघ से ही संबंधित है. 
 
हालांकि पुलिस का कहना है कि कोई धर्म परिवर्तन नहीं हुआ है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि गांव में शुद्धिकरण का कार्यक्रम जरूर हुआ था.