मुंबई. मशहूर गजल गायक गुलाम अली के बाद अब पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री की बुक रिलीज शिवसेना के निशाने पर आ गयी है. सोमवार को मुंबई में पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की बुक ‘नाइदर अ हॉक नॉर अ डव’ की रिलीज है. शिवसेना ने इस इवेंट का विरोध शुरू कर दिया है. पार्टी की तरफ से चेतावनी दी गई है कि अगर बुक लॉन्च प्रोग्राम रद्द नहीं किया गया तो पार्टी कार्यकर्ता इसे जबरन रोक देंगे. 
 
ऑर्गनाइजर ने मुख्यमंत्री से मांगी सिक्युरिटी
शिवसेना नेता आशीष चेम्बुरकर ने वर्ली स्थित नेहरू प्लेनेटोरियम को लेटर लिख कर पूर्व पाकिस्तानी मंत्री की बुक की लॉन्चिंग रद्द करने की बात कही है. उनके मुताबिक नेहरू प्लेनेटोरियम की तरफ से आश्वासन मिला है कि वह प्रोग्राम को रद्द करने की कोशिश करेंगे. प्रोग्राम का आयोजन मुंबई के ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन ने किया है. फाउंडेशन के चेयरमैन सुधीन्द्र कुलकर्णी ने कहा कि हमने मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से खुर्शीद महमूद कसूरी के लिए सिक्युरिटी मांगी है. कसूरी 11 से 14 अक्टूबर तक बुक लॉन्च के सिलसिले में मुंबई आए हैं. इस दौरान वह फिल्म एक्टर दिलीप कुमार से भी मिलेंगे.
 
क्या है मामला?
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले शिवसेना के विरोध के बाद पाकिस्तानी गजल गायक गुलाम अली का मुंबई और पुणे में मशहूर गजल गायक जगजीत सिंह की याद में होने वाला कॉन्सर्ट कैंसल हो गया था. इसे लेकर देश में राजनीति गरमाई हुई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें दिल्ली और यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने लखनऊ में कार्यक्रम करने का इनविटेशन दिया है. बताया जा रहा है कि गुलाम अली और पूर्व पाक मंत्री कसूरी का विरोध करके शिवसेना जम्मू-कश्मीर में आतंक के खिलाफ लड़ते हुए शहीद होने वाले भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देना चाहती है.