मुंबई. नवरात्रि में सुरक्षा के मद्देनज़र जारी किया गया मुंबई पुलिस का एक सर्कुलर विवादों में घिर गया है. मुंबई पुलिस ने सभी थाना इंचार्जों को आदेश दिया है कि ‘लव जेहाद’ और ‘लव त्रिशूल’  जैसे चैट पर नजर रखें. कांग्रेस और अन्य पार्टियों ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है.
 
सभी थानों को मिला है सर्कुलर
मुंबई पुलिस ने अपने सभी 93 पुलिस थानों को सर्कुलर के जरिए सतर्क रहने को कहा है. सर्कुलर में लिखा है आजकल समाज में ‘लव जेहाद ‘ और ‘लव त्रिशूल ‘ की चर्चा है. नवरात्रि में बड़े पैमाने पर लड़के-लड़कियां गरबा खेलते हैं. इसमें अलग-अलग धर्मों के लोग भी हिस्सा लेते हैं. ऐसे में कोई छेड़छाड़ की वारदात न हो, इसलिए पहले से ऐसे लोगो पर नजर रखने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएं. कांग्रेस को यह सर्कुलर नागवार गुजरा है. कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने आरोप लगाया है कि पुलिस आरएसएस और बीजेपी का एजेंडा लागू कर रही है.
 
गरबा कार्यक्रमों के आयोजक परेशान
नवरात्रि में मुंबई शहर में बड़े पैमाने पर गरबा नृत्य के आयोजन किए जाते हैं. इनमें हर धर्म के युवक-युवतियां शामिल होते हैं. पुलिस के इस रवैये से कई आयोजक भी हैरान हैं. एक आयोजक गणेश नायडू का कहना हैं कि ‘हमारे साथ आयोजन टीम में भी हर धर्म के लोग हैं. हम सब मिलकर सालों से गरबा नृत्य का आयोजन करते आ रहे हैं. कभी इस तरह की कोई समस्या नहीं आई.’ हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि पुलिस ने उन्हें अभी तक ऐसी कोई सूचना नहीं दी है. अब विवाद उठा है तो पुलिस सफाई दे रही है. पुलिस का कहना है कि वह एक विभाग के अंतर्गत दी गई एहतियात बरतने की सूचना बस है. उसे किसी और तरह से देखने या समझने की जरूरत नहीं है.