नवादा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार दादरी में पेश आई शर्मनाक घटना पर चुप्पी तोड़ी है. मोदी ने दादरी घटना के बाद नेताओं के असंयमित बयाओं को दुखद बताया और कहा कि देश को एक रहना चाहिए. साथ ही इस मुद्दे पर उन्होंने कहा कि अगर किसी को इस बारे में सही बातें सुननी हैं तो राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जो कहा है उसे सुनना चाहिए और उन्हीं के दिखाए रास्ते पर चलना चाहिए.
 
पीएम मोदी ने कहा, देश को एक रहना है. एकता, भाईचारा, शांति यही देश को आगे ले जाएगा. उन्होंने कहा कि राजनीति के कारण छोटे-मोटे अपना राजनीतिक स्वार्थ सिद्ध करने के लिए ऊटपटांग राजनीतिक बयानबाज़ी करने पर तुले रहते हैं. इन राजनेताओं की बयानबाज़ी पर ध्यान मत दीजिए. खुद नरेंद्र मोदी भी कहता है तो उसकी बात मत सुनिए. अगर सुनना है तो कल जो हमारे राष्ट्रपति ने कहा, उससे मार्गदर्शन लेना चाहिए. उससे बड़ा कोई मार्गदर्शन नहीं हो सकता है. उससे बड़ा कोई विचार, दिशा नहीं हो सकती है. राजनीतिक स्वार्थ सीधा करने के तरीके बंद होने चाहिए.