दादरी. गौमांस की अफवाह के बाद मारे गए मौहम्मद अखलाक ने आखिरी फोन अपने बचपन के हिंदू दोस्त मनोज सिसोदिया को मदद के लिए किया था. पुलिस के मुताबिक अखलाक की आखिरी कॉल  डिटेल से पता  चलता है कि आखिरी फोन सिसोदिया को किया गया था. फोन सुनते ही सिसोदिया अखलाक के घर 15 मिनट में पहुंच गया था लेकिन तब तक भीड़ ने अखलाक की हत्या कर दी थी.
 
 
सिसोदिया ने अंग्रेजी अखबार दा टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत करते हुए वह अपने दोस्त की मौत से हैरान है. सिसोदिया ने कहा है कि उसके गांव में आज तक ऐसी कोई घटना नहीं हुई  थी.