चंडीगढ़. पीजीआई चंडीगढ़ के ‘साइलेंट जोन’ के नियम को ताक पर रख केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के समर्थकों ने बीते रविवार को मरीजों की सेहत से खुलेआम खिलवाड़ किया. स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा जब हिमाचल महासभा के 15वें वार्षिक समारोह का उदघाटन करने पीजीआई चंड़ीगढ़ पहुंचे तो समर्थकों ने अस्पताल परिसर में जमकर ढोल-नगाड़े पीटे.
 
सबसे बड़ी बात यह है कि स्वास्थ्य मंत्री होने के बावजूद भी जेपी नड्डा ने अपने समर्थकों को ऐसा करने से नहीं रोका. बता दें कि साइलेंट जोन में गाना-बजाना नियम विरुद्ध है. मरीजों की सेहत को ध्यान में रखते हुए अस्पतालों को साइलेंट जोन में रखा गया है.
 
जब इस नियम की धज्जियां उड़ाई जा रहीं थी तो वहां पीजीआई के निदेशक डॉ. योगेश चावला के साथ-साथ भाजपा प्रदेशाध्यक्ष संजय टंडन, पंजाब के मुख्यमंत्री के सहायक मीडिया सलाहकार विनीत जोशी भी मौजूद थे. गौर करने वाली बात यह है कि उस समय कहीं नहीं दिखा कि अस्पताल प्रशासन स्वास्थ्य मंत्री के इस स्वागत से परेशान हुआ हो. अस्पताल के किसी भी प्रशासनिक अधिकारी ने मरीजों की सेहत से हुए खिलवाड़ की शिकायत नहीं की है.