नई दिल्ली. विज्ञान भवन में हुए समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बजट में ऐलान किए गए मुद्रा बैंक की शुरुआत की. इस बैंक का उद्देश्य छोटे कारोबारियों को लोन की सुविधा देना है. माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट फंड रिफाइनेंस एजेंसी (मुद्रा बैंक) के जरिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में 10 लाख रुपए तक के लोन दिए जाएंगे. 

मुद्रा बैंक के जरिए छोटी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट और दुकानदारों को लोन मिलेगा. साथ ही सब्जी वालों, सैलून, खोमचे वाले जैसे लोगों को भी लोन मिलेगा. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना में हर सेक्टर के हिसाब से स्कीम बनाई जाएगी. हर सेक्टर में अलग-अलग स्कीम होगी. 

गौरतलब है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपने बजट भाषण में मुद्रा बैंक के लिए 20,000 करोड़ रुपए और क्रेडिट गारंटी कोष के लिए 30,000 करोड़ रुपए के फंड का ऐलान किया था. उद्यमियों को तीन वर्गों में बांटा गया है, शिशु, किशोर और तरुण. शिशु वर्ग को 50 हज़ार, किशोर वर्ग को 50 हज़ार-5 लाख और तरुण वर्ग को 5 लाख से 10 लाख तक का लोन दिए जाने का प्रावधान है.