नई दिल्ली. रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन के कड़े रूख के बाद कई बैंकों ने कर्ज देने की दर में कटौती की घोषणा की है. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने ब्याज दर घटाकर 9.85 प्रतिशत कर दी है. एसबीआई के बाद एचडीएफसी ने भी ब्याज दर में कटौती की घोषणा की है. इससे पहले राजन ने बैंको को लताड़ लगाते हुए कहा था कि रेपो रेट कम किए जाने के बावजूद इसका लाभ उपभोक्ताओं को नहीं मिल रहा है. 

उन्होंने खासतौर पर सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई और निजी बैंक आईसीआईसीआई का नाम लेते हुए कहा कि दोनों ही बैंकों ने लोगों तक दरों में कटौती का लाभ नहीं पहुंचाया. उन्होंने कहा कि जब भी बैंकों को अपनी ब्याज दरें बढ़ानी होती हैं तब वे आरबीआई की ऊंची ब्याज दरों का बहाना लेते हैं. अब जब आरबीआई ने ब्याज दरें कम की हैं, तब बैंक दरें कम क्यों नहीं कर रहे?

राजन ने कहा, बैंक जितनी जल्दी दर कम करेंगे अर्व्यवस्था में उतनी बेहतरी होगी.