नई दिल्ली. ट्रैफिक ज्वाइंट कमिश्नर भारती अरोड़ा ने डीजीपी को चिट्ठी लिखर कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. ज्वाइंट कमिश्नर ने दावा किया है कि दुष्कर्म के एक मामले में डीजीपी ऑफिस की ओर से उन्हें दी गई जांच को लेकर कमिश्नर उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहे हैं और निर्दोष के खिलाफ कार्रवाई का दबाव बना रहे हैं. भारती अरोड़ा ने डीजीपी से इस मामले में तत्काल दखल देने की मांग की है. 
 
हालांकि कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि उन्हें इस तरह की किसी भी शिकायत के बारे में जानकारी नहीं है. उनके मुताबिक आरोपी को उनकी तैनाती से काफी पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. विर्क का दावा है कि रेप पीड़ित महिला ने भारती के खिलाफ बदसलूकी की शिकायत की है और आरोप लगाया है कि वे आरोपी अजय भारद्वाज और उसके परिवार की मदद कर रही हैं, क्योंकि भारती अजय की बहन चचंल भारद्वाज को व्यक्तिगत रूप से जानती हैं.