नई दिल्ली. राहुल गांधी के विदेश दौरे पर विवाद थमता नज़र नहीं आ रहा है. राहुल के एस्पेन में होने की घोषणा के बाद ओवरसीज़ कांग्रेस के अध्यक्ष जुनैद काजी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. जुनैद के मुताबिक पार्टी ने उन्हें अपमानित किया है. दरअसल कल जुनैद ने मीडिया से कहा था कि उन्हें एस्पेन में राहुल गांधी के दौरे की कोई जानकारी नहीं थी. जबकि राहुल गांधी के ऑफिस ने उनके एस्पेन में होने का दावा करते हुए फोटो पोस्ट की थी. जुनैद के बयान के बाद कांग्रेस ने उनके ओवरसीज कांग्रेस अध्यक्ष होने से इनकार किया था.
 
 
 
जुनैद ने राहुल के एस्पेन में होने से किया था इनकार
जुनैद काजी के मुताबिक वो कांग्रेस के बर्ताव से खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं. इसलिए उन्होंने इस्तीफा दिया है. जुनैद काजी ने कहा था कि उन्हें राहुल गांधी के एस्पेन में होने की कोई जानकारी नहीं है. जबकि राहुल गांधी के ऑफिस ने खुद उनके एस्पेन की तस्वीरें पोस्ट की थीं. वहीं कांग्रेस ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है, “जुनैद किस हैसियत से बोल रहे हैं पता नहीं.”
 
कांग्रेस ने बयान देकर कहा था कि राहुल अमेरिका के शहर एस्पेन में चार्ली रोज के कार्यक्रम में शामिल होने गए हैं. बीजेपी ने इसे कांग्रेस का झूठ कहा था. अब कांग्रेस के दावे को विदेश में कांग्रेस की गतिविधियों को देखने वाले जुनैद काजी झुठला रहे हैं. जुनैद ने दावा किया है कि राहुल ऐसे किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए. इससे पहले, खुद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के दफ्तर ने उनके ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करके जानकारी दी है कि राहुल अमेरिका के शहर एस्पेन में ग्लोबल इकोनॉमी पर आयोजित एक कॉन्फ्रेंस में शरीक हुए. इस जानकारी के साथ कॉन्फ्रेंस में मौजूद राहुल गांधी की एक तस्वीर भी पोस्ट की गई.
 
 
बीजेपी और संघ ने बोला था हमला
राहुल गांधी के ‘अचानक गायब’ होने पर सत्ताधारी पार्टी ने उनपर जमकर हमला बोल दिया था. बीजेपी ने इसके साथ ही इस साल के शुरू में 56 दिनों की उनकी छुट्टी को भी इससे जोड़ दिया. बिहार चुनाव के बीच राहुल के देश से बाहर जाने पर बीजेपी ने ये भी हमला किया कि उन्हें नीतीश और लालू ने जबरदस्ती छुट्टी भी भेजवाया है.
राहुल गांधी की छुट्टी पर सवाल उठाते हुए बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा, “राहुल को जबरदस्ती छुट्टी पर भेजा गया है.” जबकि बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा, “बीते तीन दिन से कांग्रेस राहुल गांधी के पते-ठिकाने को लेकर देश को गुमराह कर रही है. कांग्रेस ने कहा कि राहुल एस्पेन में चार्ली रोज के कॉन्फ्रेंस में गए हैं, लेकिन ये कॉन्फ्रेंस जुलाई में ही खत्म हो चुकी है.” कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने भी कुछ तस्वीरें पोस्ट की हैं, जिनमें एक तस्वीर में राहुल गांधी आइसलैंड के राष्ट्रपति के साथ दिख रहे हैं.